20 साल के वैवाहिक जीवन साथी को तीन बार तलाक कहकर मिनटों में खत्म कर दिया, आशिक मिजाज जान मौहम्मद ने


दरसल मामला थाना भोपा क्षेत्र के ग्राम नन्हेडी का ह जहा एक अधेड़ व्यक्ति ने 20 वर्ष के दाम्पत्य जीवन को एक झटके में समाप्त कर डाला दिया, पीड़ित पांच बच्चों की मां हसीबा ने पति सहित आरोपी की मदद करने वाले तीन अन्य आरोपियों के खिलाफ नामजद तहरीर देकर कार्रवाई की गुहार लगाई है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर एक आरोपी को जेल भेज दिया है।
थाना भोपा क्षेत्र के ग्राम नन्हेडी निवासी महिला हसीबा ने तहरीर देकर बताया कि उसका मायका तेजलहेडा थाना छपार में है।  लगभग 20 वर्ष पहले उसकी शादी नन्हेडी निवासी जान मौहम्मद से हुई थी। लेकिन शादी के  कुछ ही दिनों बाद पता चला कि उसका पति जान मौहम्मद आवारा व बदचलन व्यक्ति है तथा चरित्रहीन महिलाओं से सम्बंध रखता है।
 उसके पति ने कुछ दिन बाद उसे खर्च देना भी बन्द कर दिया। खर्चे के पैसे मांगने पर जान मौहम्मद मारपीट करता था। इसी बीच हसीबा ने पांच बच्चों को जन्म दिया, जिनके दो बच्चों का मानसिक संतुलन भी ठीक नहीं है। इलाज आदि का खर्च नहीं देने पर हसीबा ने ससुरालजनों से शिकायत की तो ससुरालजनों ने भी जान मौहम्मद की तरफदारी की।
जान मौहम्मद हाल ही में बिहार राज्य से गांव में आयी 15 वर्षीय युवती को बहला फुसलाकर ले गया, जिसको लेकर उसके मायकेवाले ससुराल पहुंचे तथा जान मौहम्मद से इस सम्बंध में बात की तथा उसे समझाने का प्रयास किया तो जान मौहम्मद ने हसीबा के साथ मारपीट कर दबंगई का परिचय देते हुए सबके सामने तीन बार तलाक कह डाला। 
जान मौहम्मद नाबालिग युवती को लेकर थाना भोपा क्षेत्र के ग्राम किशनपुर में रहा है। हसीबा की तहरीर के आधार पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी पति जान मौहम्मद व उसका साथ देने वाले उसके भाई आस मौहम्मद व मुशर्रफ तथा शानू के खिलाफ मु.अ.सं. 520 धारा, 363, 323, 504, 506, 1020बी आईपीसी व 3/4 मुस्लिम महिला विवाह संरक्षण का अधिकार अधिनियम के अन्तर्गत मुकदमा दर्ज करते हुए एक आरोपी मुशर्रफ को गिरतार कर जेल भेज दिया है