कफील की क्लीन चिट वाली अफवाह के पीछे जानिये कौन हैं वो गिने चुने लोग जिन्होंने खड़ी की झूठ की ये मीनार



ये समाज के बुद्धिजीवी गिने जाते थे और इनके द्वारा ही माहौल में सहिष्णुता और असहिष्णुता नापी जाती है. अभी कुछ समय पहले ही यही लोग सांप्रदायिक और सेक्युलर होने का सर्टिफिकेट भी बांटा करते थे.. अब इन्होने एक नए काम में हाथ डाला है जिसमे बिना किसी सरकारी जांच के ट्विटर पर ही गोरखपुर में मासूमो की मौत मामले में जांच का सामना कर रहे डाक्टर कफील को क्लीन चिट देना मुख्य है .. इसको जांच को प्रभावित करने का हथकंडा कहा जाय तो गलत नहीं होगा ..
देखिये वो प्रमुख ट्विटर हैंडल जहाँ से गोरखपुर की अफवाह उडी और वो अफवाह इतनी फ़ैल गई की खुद सरकार को आ कर सफाई देनी पड़ गई की इस प्रकार की अफवाहों पर ध्यान न दें.. लेकिन जिस प्रकार से संगठित हो कर एक साथ हल्ला इस मामले में बोला गया वो जांच का विषय जरूर होना चाहिए क्योकि आने वाले समय में सरकार फेक न्यूज पर ध्यान केन्द्रित करने की बात कर रही है जिसमे इस प्रकार के हैंडल व्यवधान जरूर डाल सकते हैं .. प्रमुख हैंडल निन्मलिखित हैं ..