महाराष्ट्र में चरम पर सत्ता का रोमांच.. अजित पवार को मनाने गये थे एनसीपी नेता जयंत पाटिल, जिस पर ये रहा अजित पवार का जवाब


महाराष्ट्र में सियासत का रोमांच अपने चरम पर है. ऐसा लग रहा है जैसे महाराष्ट्र में राजनीति नहीं बल्कि टी-20 मैच हो रहा हो, जिसमें हर बॉल पर मुकाबला इस तरफ से उस तरफ करवट ले रहा है.
 एकतरफ जहाँ बीजेपी ये दावा कर रही है कि वह सदन में बहुमत साबित कर देगी तो वहीं दूसरी तरफ विपक्ष ये दावा कर रहा है कि बीजेपी के पास बहुमत नहीं है क्योंकि एनसीपी के सभी विधायक शरद पवार के साथ आ गये हैं तथा अजित पवार अकेले पड़ गये हैं.
इस बीच महाराष्ट्र के डीप्टी सीएम अजित पवार को लेकर बड़ी खबर सामने आई है. खबर के मुताबिक़, एनसीपी तथा पवार परिवार अजित पवार को मनाने की कोशिशों में लगा हुआ है. 
सूत्रों के मुताबिक़, खुद शरद पवार तथा सुप्रिया सुले चाहते हैं कि अजित पवार वापस लौट आयें, इसके लिए अजित पवार को मनाने की कोशिशें जारी हैं. इसी क्रम में अजित पवार को मनाने के लिए शरद पवार के करीबी तथा कल शनिवार को एनसीपी विधायक दल के नेता बने जयंत पाटिल अजित पवार को मनाने के लिए उनके घर गये तथा उनसे मुलाकात की है.
जयंत पाटिल तथा अजित पवार की इस मुलाकात को लेकर बड़ी खबर सामने आई है. खबर के मुताबिक़, अजित पवार अपने फैसले पर अड़े हुए हैं तथा उन्हें मनाने की एनसीपी की कोशिशें विफल हो गई हैं. 
जयंत पाटिल से मुलाकात में अजित पवार ने साफ़ कर दिया है कि एनसीपी किसी और के बजाय बीजेपी का ही समर्थन करे. अजित पवार बीजेपी से गठबंधन पर अड़े हुए हैं. अजित पवार ने बीजेपी से गठबंधन को एनसीपी तथा महाराष्ट्र के हित में बताया है.