बगदादी का पूरा खानदान खात्मे की कगार पर.. बहन के बाद अब बहनोई भी गिरफ्तार


आतंक और अपराध का अंत असल में इसी रूप में होता है . अभी कुछ समय पहले दुनिया के सबसे खतरनाक आतंकी ओसामा बिन लादेन का अंत सबने देखा था और ये माना जा रहा था की उसके बाद आतंक की राह पर चलने वालों में खौफ आएगा . पर उसके बाद उस से भी आगे बढ़ गया दुर्दांत जिहादी बगदादी . 
वो भले ही मर गया है लेकिन उसकी सोच दुनिया भर के लिए एक चुनौती बन कर सामने आई है जिस से लड़ने के लिए अमेरिका रूस भारत और इजरायल जैसे देशो को बड़ी और कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है..
विदित हो की कुत्ते के हाथो मारे गये आतंकी बगदादी की मौत के बाद उन सभी का नम्बर लग रहा है जो उनके आतंक के समय उसके नाम का उपयोग अपनी सुविधाओ में कर रहे थे.. इसमें उस आतंकी की बहन और बहनोई भी शामिल थे जो अब तुर्की के हाथो चढ़ गये है और वहां के कानून के अनुसार उन्हें मिलनी शुरू हो गई है सजा.. 
तुर्की के अधिकारी ने कहा कि रसमिया अवध के रूप में जानी जाने वाली 65 वर्षीय महिला को सोमवार को एक ट्रेलर कंटेनर में छापे में पकड़ा गया था,.
बताया ये जा रहा है की ये महिला अपने परिवार के साथ अज़ाज़ शहर के पास रह रही थी। यह क्षेत्र तुर्की द्वारा प्रशासित क्षेत्र का हिस्सा है। सूत्रों के अनुसार अधिकारी ने कहा कि बहन अपने पति, बहू और पांच बच्चों के साथ थी.. 
तुर्की ने उत्तर-पश्चिमी सीरिया में दाएश के मारे गए नेता अबूबकर अल बगदादी की बड़ी बहन को गिरफ्तार किया है। उन्होने इस कारनामे को खुफिया “सोने की खान” कहा है। फ़िलहाल आतंक के इस प्रकार समूल अंत से दुनिया में एक सकारात्मक संदेश जा रहा है.