केरल ने राहुल गांधी को चुनकर विनाशकारी काम किया- वामपंथी इतिहासकार रामचंद्र गुहा .. मोदी के बारे में कही ये बात


अक्सर पीएम मोदी, बीजेपी, आरएसएस तथा हिंदुत्व के खिलाफ जहर उगलने वाले वामपंथी इतिहासकार रामचन्द्रे गुहार ने एक ऐसा बयान दिया है जिससे सियासत गरमा गई है. दरअसल रामचंद्र गुहा ने आश्चर्यजनक रूप से जहाँ पीएम मोदी की तारीफ़ की है तो वहीं राहुल गांधी पर करारा हमला किया है. 
रामचंद्र गुहा ने शुक्रवार को कहा कि ‘खानदान की पांचवी पीढ़ी’ के राहुल गांधी के पास भारतीय राजनीति में ‘कठोर परिश्रमी और खुद मुकाम बनाने वाले’ नरेंद्र मोदी के सामने कोई मौका नहीं है और केरल के लोगों ने कांग्रेस नेता को संसद के लिए चुनकर विनाशकारी कार्य किया है.
रामचंद्र गुहा ने कहा कि मैं व्यक्तिगत तौर पर राहुल गांधी के खिलाफ नहीं हूं, लेकिन युवा भारत एक खानदान की पांचवी पीढ़ी को नहीं चाहता. गुहा ने केरल लिटरेचर फेस्टिवल में बोलते हुए कहा कि आपने राहुल गांधी को संसद के लिए क्यों चुनाव, मैं व्यक्तिगत तौर पर राहुल गांधी के खिलाफ नहीं हूं.  
वह सौम्य और सुसभ्य व्यक्ति हैं, लेकिन युवा भारत एक खानदान की पांचवी पीढ़ी को नहीं चाहता. रामचंद्र गुहा ने कहा, अगर आप 2024 में भी राहुल गांधी को दोबारा चुनने की गलती करेंगे तो आप सिर्फ नरेंद्र मोदी की ही मदद करेंगें क्योंकि नरेंद्र मोदी की सबसे बड़ी ताकत यही है कि वे राहुल गांधी नहीं है.
रामचंद्र गुहा ने कहा कि नरेंद्र मोदी की असली बढ़त यह है कि वह राहुल गांधी नहीं हैं. उन्होंने खुद यह मुकाम हासिल किया है. उन्होंने 15 साल तक राज्य को चलाया है और उनमें प्रशासनिक अनुभव है. वह उल्लेखनीय रूप से कठिन परिश्रम करते हैं और कभी यूरोप जाने के लिए छुट्टी नहीं लेते। 
मेरा विश्वास कीजिए, मैं यह सब गंभीरता से कह रहा हूं. गुहा ने कहा कि कांग्रेस का स्वतंत्रता संग्राम के समय ‘महान पार्टी’ से आज ‘दयनीय पारिवारिक कंपनी’ बनने के पीछे एक वजह भारत में हिंदुत्व और अंधराष्ट्रीयता का बढ़ना है